65 सांसदों ने लिखी ओबामा को चिट्ठी, मोदी को न दे वीजा

Like this content? Keep in touch through Facebook

 

Narendra Modiजहां एक तरफ बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह अमेरिका में गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को वीजा दिए जाने की वकालत कर रहे हैं। वहीं, 65 सांसदों ने अमेरिकी प्रशासन से मोदी को वीजा न देने की अपील की है। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को लिखी चिट्ठी में राजनाथ की इन कोशिशों के बीच संसद के 12 अलग-अलग पार्टियों के 65 सदस्यों ने प्रेजिडेंट बराक ओबामा को चिट्ठी लिखकर अमेरिकी प्रशासन से अपील की है कि वह मोदी को वीजा नहीं देने की मौजूदा नीति को बनाए रखे।

12 पार्टियों से सम्बंध रखने वाले सांसदों की ओर से ओबामा को लिखे पत्र में कहा गया है कि हम सम्मानपूर्वक

आपसे अपील करते हैं कि मोदी को अमेरिकी वीजा नहीं देने की मौजूदा नीति को बनाए रखा जाए। गौरतलब है कि ऐसे ही एक पत्र पर राज्यसभा के 25 सदस्यों तथा एक अन्य पत्र पर लोकसभा के 40 सदस्यों के हस्ताक्षर हैं। ये पत्र 26 नवंबर और 5 दिसंबर 2012 को लिखे गए थे, जिन्हें रविवार को वाइट हाउस को फिर से फैक्स किया गया है।

इस चिट्ठी में सीपीआई सांसद सीताराम येचुरी के भी साइन हैं लेकिन येचुरी का कहना है कि उन्होंने ऐसी किसी चिट्ठी पर साइन नहीं किए हैं। येचुरी ने कहा कि किसी दूसरे देश के राष्ट्रपति को चिट्ठी लिखना उनकी फितरत नहीं है और वह कभी नहीं चाहेंगे कि भारत के मामलों में दूसरे दखल दें। येचुरी ने कहा कि ऐसे मुद्दों को देश में ही सुलझाना चाहिए। उन्होंने आशंका जताई कि किसी ने उनके साइन को चिट्ठी में कट पेस्ट कर दिया है।

दरअसल, अमेरिका दौरे पर गए राजनाथ सिंह ने न्यूयॉर्क में संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि वह नरेंद्र मोदी को वीजा नहीं दिए जाने के मुद्दे को अमेरिकी सांसदों के समक्ष उठाएंगे। गौरतलब है कि अमेरिकी सरकार ने गुजरात में हुए 2002 के दंगों और वहां मानवाधिकारों के गंभीर उल्लंघन को लेकर मोदी को वीजा नहीं देने का फैसला किया था।