IPL 2019 : राजस्थान को हराकर दिल्ली ने अपनी स्थिति की मजबूत

Like this content? Keep in touch through Facebook

नई दिल्ली : ईशांत शर्मा (38 रन देकर 3 विकेट) और अमित मिश्रा (17 रन देकर 3 विकेट) की दमदार गेंदबाजी से राजस्थान रॉयल्स को शनिवार को यहां सस्ते में समेटने के बाद 23 गेंद शेष रहते हुए 5 विकेट से जीत दर्ज कर दिल्ली कैपिटल्स तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंची जबकि राजस्थान की रही-सही उम्मीद भी खत्म हो गई।

राजस्थान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए रियान पराग के 50 रनों की मदद से 20 ओवरों में 9 विकेट पर 115 रन बनाए थे। दिल्ली के लिए नाबाद अर्द्धशतकीय पारी खेलने वाले ऋषभ पंत ने 17वें ओवर की पहली गेंद पर छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई। उन्होंने 38 गेंदों की पारी में 2 चौके और 5 छक्के लगाए। जीत के बाद दिल्ली की टीम ने यहां अपने घरेलू मैदान का चक्कर लगाकर दर्शकों का अभिवादन किया।

छोटे लक्ष्य का दिल्ली ने आक्रामक तरीके से पीछा करना शुरू किया। सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ और शिखर धवन ने 3 ओवरों में 28 रन बनाकर टीम के इरादे को जाहिर कर दिया। ईश सोढ़ी ने इसके बाद चौथे ओवर की अपनी पहली 2 गेंदों पर दोनों धवन और शॉ को पैवेलियन भेजकर राजस्थान की वापसी कराई। धवन 16 रन बनाकर रियान पराग को कैच थमा बैठे, तो वही शॉ के बल्ले से लगकर गेंद विकेट से टकरा गई। सोढ़ी का यह ओवर मेडन रहा।

दिल्ली पर इन 2 झटकों का कोई खास असर नहीं हुआ और कप्तान श्रेयस अय्यर ने पंत के साथ ताबड़तोड़ पारी जारी रखी। अय्यर ने पारी के 6ठे ओवरों में सोढ़ी की गेंद पर लगातार 2 छक्के लगाए, तो वहीं पंत ने अंतिम गेंद पर चौका लगाकर इस ओवर से 17 रन बटोरे। इस तरह दिल्ली ने पॉवरप्ले में 2 विकेट के नुकसान पर 46 रन बना लिए।

7वें ओवरों में गेंदबाजी के लिए आए पराग की 3री और 4थी गेंद पर पंत ने लगातार 2 छक्के लगाए। इस बीच दिल्ली ने 50 रन पूरे किए। अय्यर अपनी आक्रामक पारी को ज्यादा लंबा नहीं खींच सके और श्रेयस गोपाल की गेंद पर लिविंगस्टोन को कैच थमा बैठे। उन्होंने 9 गेंदों में 15 रन बनाए।

श्रेयस के आउट होने के बाद दिल्ली की रन गति थोड़ी कम हुई लेकिन टीम 10 ओवरों में 70 रन बनाकर मजबूत स्थिति में थी। सोढ़ी ने इसके बाद कोलिन इनग्राम को रहाणे के हाथों कैच कराकर 14वें ओवरों में दिल्ली को चौथा झटका दिया। उन्होंने 23 गेंदों की पारी में 12 रन बनाए।

पारी के 15वें ओवरों में वरुण आरोन की आखिरी 2 गेंदों पर पंत ने छक्का और चौका लगाया। अगले ओवरों में गोपाल की पहली गेंद पर रदरफोर्ड ने छक्का लगाया लेकिन अगली गेंद पर फिर से बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में गच्चा खा गए और लिविंगस्टोन को कैच थमा बैठे। पंत ने इसके बाद आक्रामक रुख जारी रखा और छक्के के साथ टीम को जीत दिलाई। राजस्थान के लिए सोढ़ी ने 3 और गोपाल ने 2 विकेट लिए।

‘करो या मरो’ के मैच में राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन ईशांत के शुरुआती झटकों से टीम उबर नहीं सकी। असम के 17 साल के रियान पराग ने अर्द्धशतकीय पारी खेलकर टीम के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया। पराग ने 49 गेंद की पारी में 4 चौके और 2 छक्के की मदद से 50 रन बनाए।

रहाणे के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे लियाम लिविंगस्टोन ने ईशांत के पहले ओवरों में छक्का लगाकर अपने इरादे जाहिर किए ही थे कि इसी ओवर की अंतिम गेंद पर रहाणे (2 रन) बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में शिखर धवन को कैच थमा बैठे।

पारी के चौथे ओवरों में ईशांत की गेंद पर कीमो पाल ने लिविंगस्टोन का मुश्किल कैच टपका दिया और गेंद सीमारेखा के पार चली गई लेकिन ईशांत ने इसकी 1 गेंद के बाद ही उन्हें बोल्ड कर पैवेलियन भेज दिया। आईपीएल के मौजूदा सत्र में पहली बार बल्लेबाजी के लिए उतरे महिपाल लोमरोर ने अपनी पहली गेंद पर चौके के साथ खाता खोला। अगले ही ओवरों में फॉर्म में चल रहे संजू सैमसन (5) रन चुराने में हुई गफलत का शिकार हुए और पृथ्वी शॉ के सटीक थ्रो पर रनआउट हो गए।

लोमरोर ने ईशांत के तीसरे ओवर की दूसरी गेंद पर चौका लगाया लेकिन ओवर की तीसरी गेंद बल्ले का किनारा लेते हुए विकेटकीपर पंत के दस्ताने में चली गई। लोमरोर ने 3 गेंद की पारी में 2 चौके की मदद से 8 रन बनाए। राजस्थान की टीम पॉवरप्ले में 4 विकेट के नुकसान पर 30 रन ही बना सकी। पॉवरप्ले में ईशांत ने 3 ओवरों में 20 रन देकर 3 विकेट लिए।

मिश्रा ने पराग और श्रेयस गोपाल (12) के बीच की 27 रनों की साझेदारी को तोड़ा। रन गति को तेज करने की कोशिश में गोपाल क्रीज से बाहर निकल गए और पंत ने तुरंत गिल्लियां बिखेर दीं। अगली गेंद पर स्टुअर्ट बिन्नी भी खाता खोले बिना पैवेलियन लौट गए। मिश्रा की गेंद पर पंत ने उनका कैच पकड़ा। मिश्रा हालांकि हैट्रिक लेने से चूक गए। बोल्ट ने कृष्णप्पा गौतम (6) का आसान-सा कैच टपका दिया। गौतम हालांकि इसका फायदा नहीं उठा सके और मिश्रा की अगली ओवरों में लांगऑफ पर ईशांत को कैच थमा बैठे।

पारी के 17वें ओवरों में पराग ने ईशांत की लगातार 2 गेंदों पर चौका लगाकर रन गति में इजाफा किया। इस ओवरों में 18 रन बने। बोल्ट ने इसके बाद सोढ़ी (6) को आउट कर पराग के साथ उनकी 30 रनों की साझेदारी को खत्म किया।

19वें ओवरों में गेंदबाजी के लिए आए कीमो पाल को मांसपेशियों में खिंचाव के कारण मैदान से बाहर जाना पड़ा। उनकी जगह ओवर की बाकी बची 5 गेंदें रदरफोर्ड ने डालीं। इसी ओवर की चौथी गेंद पर राजस्थान के 100 रन पूरे हुए। पराग ने बोल्ट के आखिरी ओवर की पहली गेंद पर छक्का लगाने के बाद चौथी गेंद पर 1 और छक्का लगाकर 47 गेंदों में अपना अर्द्धशतक पूरा किया। वे हालांकि पारी की आखिरी गेंद पर बोल्ट का दूसरा शिकार बने।