सावधान : जानिए, अनजाने में कहीं आप तो नहीं कर रहे इस तरह Whatsapp पर अपना डाटा लीक

Like this content? Keep in touch through Facebook

नई दिल्ली : Facebook डाटा चोरी की खबर ने पूरी दुनिया में लोगों को चिंतित कर दिया है। लेकिन डाटा की यह चोरी सिर्फ फेसबुक पर नहीं होती। Whatsapp भी इसमें शामिल हैं। और इसमें डाटा लीक करने में खुद यूजर्स जिम्मेदार हैं। मुफ्त डाटा, टॉक-टाइम, यहां तक कि आइ-फोन तक देने के नाम पर कई फर्जी कंपनियां Whatsapp यूजर्स से उनकी निजी जानकारियां निकलवा लेती हैं, जिनका बाद में इस्तेमाल किया जाता है।

रोजाना Whatsapp पर आपके पास ढेरों संदेश आते होंगे। इनमें शर्त बस यह होती है कि आप उस संदेश में दी गई लिंक को खोलें और अपना रजिस्ट्रेशन कराएं। फिर उस संदेश को अपने Whatsapp संपर्कों को भेजें। ज्यादातर यह संदेश और इनमें दी गई लिंक्स पहली नजर में विश्वसनीय लगती हैं। भ्रमित होकर कई लोग इन निर्देशों का पालन कर लेते हैं। बस इतनी सी प्रक्रिया में ही आपकी अहम जानकारी लीक हो जाती है।

डाटा लीक से बचने के लिए सबसे जरूरी है यह समझना कि दुनिया में कुछ भी मुफ्त मिलता है। अगर कोई आपको मुफ्त में कुछ देने की बात कर रहा है, तब भी उसे इसमें कुछ फायदा हो रहा होगा। लिहाजा ऐसे किसी लिंक पर क्लिक करने से पहले उसे अच्छी तरह पढ़ लें। ज्यादातर ऐसा होता है कि संदेश में जो चीज मुफ्त में देने की बात लिखी होती है, लिंक में उसका कोई जिक्र नहीं होता। कई बार सरकारी फायदों के बारे में झूठे संदेश आते हैं, जिनमें यूआरएल डॉट इन के बजाय डॉट कॉम पर खत्म होता है। लिंक को ध्यान से पढ़कर आसानी से समझा जा सकता है कि संदेश सही है या फर्जी है।

जानिए, कैसे निकाली जाती है लोगों से जानकारी

URL में सोलर पैनल रजिस्टेशन लिखा है मगर वह डॉट कॉम पर खत्म हो रहा है न कि भारत सरकार के जीओवी.इन पर।

इस लिंक पर क्लिक करते ही एक पेज खुलेगा जिसमें लिखा होगा कि अगर आप हर घर रोशन अभियान का हिस्सा बनना चाहते हैं तो नीचे दिए गए फॉर्म को भरकर रजिस्टर कराएं।

इस पेज पर कई विज्ञापन भी हैं, यानी वेबसाइट चलाने वाला विज्ञापनों से कमाई कर रहा है।

जानकारी देने के बाद अगला पेज आपको इस लिंक को Whatsapp पर अपने दस दोस्तों से शेयर करने का निर्देश देगा।

इसके बाद जब आप रजिस्ट्रेशन नंबर पाने के लिए क्लिक करेंगे तो अगला पेज आपसे App डाउनलोड करने को कहेगा।

आपको एक सोलर किट नंबर भी दिया जाएगा, जो किसी काम का नहीं होगा। App डाउनलोड करके आप इस फर्जी वेबसाइट को बनाने वाले शख्स को फायदा पहुंचाएंगे।