महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में बड़ा नक्सली हमला, 16 जवान शहीद

Like this content? Keep in touch through Facebook

मुंबई : महाराष्ट्र के गढ़चिरौली पुलिस के एक नक्सल विरोधी दस्ते C-60 के 16 जवान बुधवार को एक बारूदी सुरंग विस्फोट में शहीद हो गए हैं। बताया जा रहा है यह आईईडी ब्लास्ट गढ़चिरौली जिले के दादापुर रोड पर हुआ है। महाराष्ट्र के मंत्री सुधीर मुंगतीवार ने कहा कि गढचिरौली में हुए नक्सली हमले में 15 जवान और एक ड्राइवर की मौत हो गई है।

बताया जा रहा है कि विस्फोट आज दोपहर हुआ जब जवान क्षेत्र में एक ऑपरेशन पर निकले थे। सुरक्षा बलों के दो वाहन जब नागपुर से लगभग 250 किलोमीटर दूर स्थित कोच्चि की ओर दादापुर रोड से गुजर रहे थे, तो नक्सलियों ने आईईडी विस्फोट कर दिया।

घटना में कई जवान घायल हो गए। बताया जा रहा है कि जिले में भामरागढ़ के पास पिछले साल 22 अप्रैल को सुरक्षा बलों ने 40 नक्सलियों को मार गिराया था। यह आईईडी विस्फोट उसी का बदला माना जा रहा है। अधिकारियों ने कहा कि टीम को घटनास्थल पर भेजपा गया है और घायलों को गढ़चिरौली के एक अस्पताल में भेज दिया गया है।

इससे पहले नक्सलियों ने बुधवार सुबह गढ़चिरौली के कुरखेड़ा उप-जिले में निजी ठेकेदारों से जुड़े तीन दर्जन वाहनों को आग लगा दी। यह वाहन दादापुर गांव के पास एनएच 136 के पुरादा-यरकद सेक्टर के लिए निर्माण कार्यों में लगे हुए थे।

घटना में कई जवान घायल हो गए। बताया जा रहा है कि जिले में भामरागढ़ के पास पिछले साल 22 अप्रैल को सुरक्षा बलों ने 40 नक्सलियों को मार गिराया था। यह आईईडी विस्फोट उसी का बदला माना जा रहा है। अधिकारियों ने कहा कि टीम को घटनास्थल पर भेजपा गया है और घायलों को गढ़चिरौली के एक अस्पताल में भेज दिया गया है।

इससे पहले नक्सलियों ने बुधवार सुबह गढ़चिरौली के कुरखेड़ा उप-जिले में निजी ठेकेदारों से जुड़े तीन दर्जन वाहनों को आग लगा दी। यह वाहन दादापुर गांव के पास एनएच 136 के पुरादा-यरकद सेक्टर के लिए निर्माण कार्यों में लगे हुए थे।

घटनास्थल से भागने से पहले नक्सलियों ने पिछले साल अपने साथियों की हत्या की निंदा करते हुए पोस्टर और बैनर भी लगाए। नक्सलियों ने जाने से पहले दो जेसीबी, 11 टिप्पर, डीजल और पेट्रोल टैंकर्स, रोलर्स, जेनरेटर वैन और दो स्थानीय कायार्लयों को भी आग के हवाले कर दिया।