आज ब्रिटेन के 2 सैटलाइट लॉन्च करेगा ISRO

Like this content? Keep in touch through Facebook

नई दिल्ली : 16 सितंबर को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ISRO अपने पोलर सैटलाइट लॉन्च व्हिकल (पीएसएलवी) सी-42 की मदद से ब्रिटेन के दो उपग्रहों को लांच करेगा। यह दोनों उपग्रह ब्रिटेन के है, जो पूरी तरह से कॉमर्शियल होंगे।

पीएसएलवी-सी 42 दो ब्रिटिश पृथ्वी अवलोकन उपग्रह नोवा एसएआर और एस1-4 को लेकर आज उड़ान भरेगा और उन्हें कक्षा में स्थापित करेगा। दोनों को 583 किमी सूर्य समकालिक कक्षा में लॉन्च किया जाएगा। इसरो ने बताया कि नोवा एसएआर एक एस-बैंड सिंथेटिक रडार उपग्रह है जो वन मानचित्रण, भूमि उपयोग और बर्फ कवर निगरानी, बाढ़ और आपदा निगरानी करेगा। वहीं एस 1-4 एक उच्च संकल्प ऑप्टिकल पृथ्वी निरीक्षण उपग्रह है, जिसका उपयोग संसाधनों, पर्यावरण निगरानी, शहरी सर्वेक्षण के लिए प्रयोग किया जाता है। ये दोनों उपग्रह ब्रिटेन के सुरेय सेटेलाइट टेक्नोलॉजी लिमिटेड के हैं। दोनों उपग्रहों का वजन 889 किलोग्राम है।

इसरो 16 सितंबर की रात 10 बजे इन दोनों उपग्रह को लॉन्च करेगा। इसरो के चेयरमैन के. सिवन ने बताया कि 16 सितंबर को होने वाला लॉन्च पूरी तरह से कॉमर्शियल है। इसरो पहले भी कई बार विदेशी उपग्रहों को अंतरिक्ष में भेज चुका है। पीएसएलवी-सी 42 को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के पहले लॉन्च पैड से रवाना किया जाएगा। पीएसएलवी सी42 मिशन के लिए उल्टी गिनती आज दोपहर बाद एक बजकर आठ मिनट शुरू हो गई।

इसरो के मुताबिक, 44.4 मीटर लंबे और 230.4 टन भार के पीएसएलवी रॉकेट की कुल उड़ान 17 मिनट 44 सेकंड्स की होगी। इन सैटलाइट को 583 किलोमीटर की ऊंचाई पर सन सिन्क्रोनस ऑर्बिट में स्थापित किया जाएगा। यह पीएसएलवी की 44 वीं उड़ान होगी और इस साल इसरो द्वारा तीसरा लॉन्च होगा।